संदेश

दिसंबर, 2013 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

अनन्याओं के लिये जीने के रास्ते साफ़ करें..

नारी के खिलाफ़ वैमनस्य भावों के लिये समाज की    दोगली समझ को समूल विनिष्ट करें आईये हम खुद को सुधारें.. अनन्याओं के लिये जीने के रास्ते साफ़ करें.. हम सदा नारी के साथ इंसाफ़ करें..!

एक नशीली सुबह

चित्र
माथे पर बिंदी सा पूरब के भाल को उजास करता सूरज हर एक सुबह को मादक बना देता है । सच सुबह और तुम दोनों में फर्क कैसे करूँ प्रकृति जो हो तुम और सुबह